गणेश जन्म (श्री विनायक अवतार) मंगलवार, दि. 13 फरवरी 2024; शिव जयंती सोमवार, दि. 19 फरवरी 2024; संकष्टी चतुर्थी चंद्रोदय का समय - 9 बजकर 44 मि. बुधवार, दि. 28 फरवरी 2024

आजकी प्रतिमा

Dagdusheth Ganpati Today

सुस्वागतम्

श्रीदगडूशेठ हलवाई गणपती यह भक्तों के लाडले भगवान हैं। श्रीमंत दगडूशेठ हलवाई गणपती को पुणे शहर के गौरव का उच्चतम स्थान माना जाता है। हर साल भारत भर के और देश विदेशों के अनगिनत भक्त इस भगवान के दर्शन पाने के लिये आते हैं।

श्री दगडूशेठ हलवाई गणपती यह मंदिर भक्तों के आदर और भक्ती का स्थान तो है ही, पर इतना ही नहीं, बल्कि समाज-सेवा और संस्कृति-संवर्धन के लिए प्रयत्नशील रही हुई एक महत्त्वपूर्ण संस्था के रूप में भी लोग इसे जानते हैं। ’श्री दगडूशेठ हलवाई गणपती मंदिर ट्रस्ट’ इस नाम से यह संस्था कार्यरत है। इस मंदिर के पीछे एक बहुत बडी और वैभवशाली परंपरा रही है।

कई साल पहले अपना इकलौता बेटा प्लेग में खोने के बाद श्रीमंत दगडूशेठ और उनकी पत्नी लक्ष्मीबाई, इन दोनों ने इस गणेश मूर्ती की स्थापना की थी। उसके बाद अब हर साल ना केवल श्री दगडूशेठ का परिवार बल्कि आसपास के सभी लोग भाव-भक्ती से और बडे जोश के साथ गणेशोत्सव मनाते रहे।

समय-सारिणी

मंदिर का समय (रोज़)

मंदिर का समय (रोज़)
  • सु. ५ बजे से रा. १०:३० बजे तक (सोमवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार और रविवार)
  • मंदिर का समय (मंगलवार)– सु. ५ बजे से रा. ११ बजे तक
  • सुप्रभातम आरती– सु. ०७:३० से ०७:४५
  • नैवेद्य आरती– दो. १.३० ते १.४५
  • मध्यान्ह आरती– दो. ३.०० ते ३.१५
  • महामंगल आरती– रा. ८.०० ते ९.००
  • शेजारती– रा. १०.३० ते १०.४५

आगामी कार्यक्रम

  • १३ फ़रवरी २०२४, मंगलवार – गणेश जन्म (श्री विनायक अवतार)
  • १९ फ़रवरी २०२४, सोमवार – शिव जयंती
  • २८ फ़रवरी २०२४, बुधवार – संकष्टी चतुर्थी, चंद्रोदय का समय - 9 बजकर 44 मि.

वार्षिक कार्यक्रम

वॉलपेपर